पटना : 2 रुपये के लिए फर्जी एनकाउंटर करने वाले पुलिसवालों को मिलेगी सजा

0

12 जून को उन पुलिसवालों को सजा सुनाई जाएगी जिन्होंने महज 2 रुपये के लिए 3 छात्रों को फर्जी मुठभेड़ में मर गिदय था . उन छात्रों के परिजनों को पिछले 12 वर्षों से इस दिन का इंतजार था. सीबीआई ने इसी वर्ष 5 जून को इन पुलिसवालों को दोषी ठहराया था. मृतक के परिजन तो कड़ी से कड़ी सजा की मांग कर रहे हैं. एक मृतक की माँ तो फंसी से भी कड़ी सजा की मांग कर रही है.

 

इस फर्जी मुठभेड़ में मरे गये एक छात्र विकास रंजन के पिता को  अपने निर्दोष बेटे के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए १२ वर्षों तक इंतजार करना पड़ा. विकास की ही माँ उन आरोपियों के लिए फंसी से भी कड़ी सजा चाहती है .

दरअसल साल 2002 में पटना पुलिस ने 3 छात्रों को फर्जी मुठभेड़ में मार गिराया था. हुआ यूँ था की तीनों छात्रों ने आशियाना नगर के पीसीओ से फ़ोन किया था लेकिन बिल 2 रुपये जज्यादा आ गया . छात्रों ने इसकी शिकायत की तो दुकानदार ने कुछ लोगों के साथ मिल कर उनकी पिटाई कर दी और पुलिस को भी फ़ोन कर दिया. पुलिस ने आ कर मौके पर ही उनको गोली मर दी.

इस घटना के बाद पुरे पटना शहर में दंन्गा फैल गया था. पुलिस को गोलियां और लाठी चलानी पड़ी थी.

Share.

Leave A Reply